Sale!

Hy. Tomato Abhilash- 10gm

Availability: In Stock

655.00 405.00

Compare

Description

Product Details

Fruit Colour Attractive red
Plant Type Strong plant
Related Maturity / Picking 60 65 days after transplanting
Fruit Size 80 to 85gm
Fruit Shape/Skin Flat round

_____________________________________________________________________

Cultivation Techniques

Tomato is the Crop of tropical & subtropical regions. Although now a days it is being grown almost all parts of the worlds in controlled & uncontrolled conditions.

Sowing Time: –

  • Summer- March- April
  • Winter- Aug-Sept

Seeds: – Approximately 140-160 Gms of good variety hybrid seeds are required for one acre of field. Some of the good varieties are Ansal, Abhiraj, Abhilash, Ayushman, Alankar, Abhinav,Heemshikhar, Laxmi, Sampurna etc

Nursery Preparation: The soil of the nursery should be well ploughed to bring fine tilth in the soil. Nursery can be grown on 1.2 Meter wide ridge beds. Length of the bed can be kept as per convenience.

Soil & Land Preparation- Sandy loam soils with good preparation is found to be most suitable for growing of tomato. Add 8-10 MT well rotten FYM/Acre field for good health of the plants

Transplanting- 25-30 Days old plants can be transplanted in main field. Transplanting can be done with the distance of 50 Cm between Plant to Plant and 60 Cms between row to row.

Fertilizers- For the hybrid varieties, tomato need good amount of fertilizers. One acres of crop requires 60:36:36 Kg of NPK which can be given in variety of combinations. This can be supplied by applying 130 Kg Urea, 225 Kg SSP and 60 kg of MoP per acre. Urea is advised to apply in three equal doses.

Irrigation- Irrigation intervals in Kharif can be is 6-7 days, in summer it can be 5-6 days and in winter it can be 10-15 days.

Harvesting- Most of the varieties starts giving fruits after 75 days of transplanting. Pink to red tomatoes can be picked from the field which can be sent to the nearby market next or same day.

Production- Production of the tomato can vary from variety to variety. It largely affected by growing technique and crop management.

______________________________________________________________________

फसल प्रबंधन

टमाटर उष्णकटिबंधीय और उपोष्णकटिबंधीय क्षेत्र की फसल है। हालाँकि अब यह नियंत्रित परिस्थितियों मे दुनिया के सभी हिस्सो मे उगाया जाता है

 

बुवाई समय: –

  • गर्मी- मार्च-अप्रैल
  • शीतकालीन- अगस्त-सितंबर

बीज: – एक एकड़ के क्षेत्र के लिए लगभग 140-160 ग्राम अच्छी किस्म के संकर बीज की आवश्यकता होती है। कुछ अच्छी किस्मों में अंसलज, अभिराज, अभिलाश, आयुषम, आलंकर, अभिनव, हीमशिखार, लक्ष्मी, संपूर्णा आदि हैं।

 

नर्सरी तैयारी: मिट्टी में ठीक लोच लाने के लिए नर्सरी की मिट्टी अच्छी तरह से जुताई की जानी चाहिए। 1.2 मीटर चौड़े उठे हुए बेड पर नर्सरी उगाई जा सकता है। बेड की लंबाई सुविधा के अनुसार रखा जा सकता है।

 

मृदा और भूमि की तैयारी- अच्छी तैयारी के साथ दोमट मिट्टी टमाटर के बढ़ने के लिए सबसे उपयुक्त पाई गई है। पौधों के अच्छे स्वास्थ्य के लिए 8-10 टन अच्छी तरह से सड़ा हुई गोबर की खाद / प्रति एकड़ वांछित है

 

प्रत्यारोपण- 25-30 दिनों के पुराने पौधों को मुख्य खेत में ट्रांसप्लांट किया जा सकता है। प्रत्यारोपण मे पौधे से पौधे की बीच 50 सेमी की दूरी और पंक्ति से पंक्ति के बीच 60 सेमी के साथ किया जा सकता है।

 

उर्वरक- संकर किस्मों के लिए, टमाटर को उर्वरकों की अच्छी मात्रा की आवश्यकता होती है। फसल के एक एकड़ में 60:36:36 एनपीके/ प्रति एकड़ की आवश्यकता होती है जिसे संयोजनों की विविधता में दिया जा सकता है। यह 130 किलो यूरिया, 225 किलो एसएसपी और 60 किलो एमओपी के द्वारा पूरा किया जा सकता है| यूरिया को तीन बराबर खुराक में देने की सलाह दी जाती है।

 

सिंचाई- खरीफ में सिंचाई अंतराल 6-7 दिन हो सकता है, गर्मियों में यह 5-6 दिन हो सकता है और सर्दियों में यह 10-15 दिन हो सकता है।

 

तुड़ाई – अधिकांश किस्में प्रत्यारोपण के 75 दिनों के बाद फल देने लगती हैं। फल का रंग गुलाबी से हल्का लाल होने पर तुड़ाई की जा सकती है| जिसे अगले या उसी दिन पास के बाजार में भेजा जा सकता है।

 

उत्पादन- टमाटर का उत्पादन किस्म के अनुसार भिन्न हो सकता है | यह काफी हद तक तकनीक और फसल प्रबंधन से प्रभावित है।

 

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Hy. Tomato Abhilash- 10gm”

Your email address will not be published. Required fields are marked *